बिहार में NDA को काफी कमजोर बहुमत, नीतीश कुमार ज्यादा दिनों तक नहीं रह पाएंगे मुख्यमंत्री: मनोज झा

0
868

बिहार में सरकार बनाने की कवायद तेज हो चुकी है। आज मुख्यमंत्री आवास पर एनडीए के घटक दलों की अहम बैठक होने जा रही है, जिसमें बीजेपी के कद्दावर नेता और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी शामिल होंगे। इस बीच राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के वरिष्ठ नेता मनोज झा ने शनिवार को कहा कि जनता दल (युनाइटेड) के मुखिया नीतीश कुमार के पास बहुत कम बहुमत है। उन्होंने एकबार फिर भारतीय जनता पार्टी पर चुनाव में धांधली करने का आरोप लगाया।

उन्होंने नीतीश कुमार पर 2017 में महागठबंधन से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में जाने के लिए लोगों के जनादेश के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया। साथ ही कहा कि बिहार की जनता अब जाग गई है।

मनोज झा ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, “यहां तक ​​कि एनडीए और भाजपा को भी मानना ​​चाहिए कि अगर यह बदलाव के लिए जनादेश नहीं होता तो नीतीश कुमार राज्य विधानसभा में सिर्फ 40 सीटें नहीं जीतते। आप (नीतीश कुमार) कम बहुमत पर हैं। कम बहुमत वाली सरकार लंबे समय तक नहीं चल सकती है।”

उन्होंने कहा कि राजद ने पहले ही कम वोट मार्जिन के बारे में भारत के चुनाव आयोग से संपर्क किया है और आने वाले दिनों में जवाबदेही की मांग करते हुए नीतीश कुमार के खिलाफ सड़कों पर आने की चेतावनी दी है।

Adv Admission
Adv Admission

आपको बता दें कि नीतीश कुमार ने शुक्रवार को राज्य के राज्यपाल फागू चौहान को अपना इस्तीफा सौंप दिया था।

मनोझ झा ने कहा, “आप (नीतीश कुमार) ने लोगों के जनादेश को दबा दिया, लेकिन अब बिहार के लोग जाग गए हैं। अब बिहार के लोग आपको नहीं बख्शेंगे। लोग अब जवाबदेही सुनिश्चित करने के लिए सड़कों पर आएंगे।”

लोजपा पर नीतीश कुमार की टिप्पणी पर मनोज झा ने कहा कि उनके पास कोई अन्य विकल्प नहीं है। 40 सीटों वाला व्यक्ति अगला मुख्यमंत्री बनना चाहता है। भाजपा के पास अब सरकार पर नियंत्रण है। आपको बता दें कि नीतीश कुमार ने भाजपा को यह तय करने के लिए छोड़ दिया था कि चिराग पासवान के नेतृत्व वाली लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी), जो विधान सभा चुनावों में जेडीयू के खिलाफ चुनाव लड़े, एनडीए में रहेगी या नहीं।
adv cure

मनोज झा ने कहा कि चिराग पासवान ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील मोदी के रवैये पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कोरोना लॉकडाउन के बीच मजदूरों को घर वापस जाने में हुई परेशानी को लेकर सरकार को कठघरे में खड़ा किया था।

आपको बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 74, जेडीयू ने 43 सीटें जीती है। जबकि मुकेश सहनी की वीआईपी और जीतन राम मांझी के HAM को चार-चार सीटों पर सफलता मिली है।
adv puja

Vespa -Adv
Vespa -Adv
Digital Marketing Adv
Digital Marketing Adv
adv
adv