भाजपा सांसद जायसवाल ने स्वास्थ्य सुविधाओं पर जताई चिंता, कहा- चरमरा गई हैं बुनियादी सुविधाएं

0
558

बिहार में कोरोना वायरस से हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। राज्य सरकार ने वायरस को नियंत्रित करने के लिए कई ऐहतियातन कदम उठाए हैं। इसके बावजूद संक्रमण के रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में बिहार सरकार पर विपक्ष के अलावा अपने भी हमलावर हैं। भाजपा ने राज्य के स्वास्थ्य ढांचे पर सवाल खड़े किए हैं।

Hiring Medicine Adv
vHiring Medicine Adv

भाजपा के राज्यसभा सांसद और प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल का कहना है कि स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं। उन्होंने कहा, ‘बिहार में बुनियादी सुविधाएं चरमरा गई हैं। स्थिति इस स्तर पर पहुंच गई है कि डॉक्टर फोन तक नहीं उठा रहे हैं। वे वर्तमान स्थिति में असहाय हो गए हैं। मैंने दूसरी लहर में इतने सारे लोगों को खो दिया है।’

भाजपा सांसद ने कहा, ‘हमने हाल में चंपारण में कोविड रोगियों को बचाने के लिए बेड और ऑक्सीजन की व्यवस्था की है। अब सुविधा बंद होने की स्थिति में पहुंच गई है। हम बेतिया शहर में 90 बेड बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं और हम इसमें जरूर कामयाब होंगे। लेकिन यह पर्याप्त नहीं होगा। कोविड पॉजिटिव लोगों की संख्या 30 प्रतिशत तक पहुंच गई है।’

Adv - Munna Bhai
Adv- Munna Bhai

जायसवाल ने लोगों को सलाह देते हुए कहा कि कोरोना का सबसे अच्छा इलाज सामाजिक दूरी बनाना और मास्क पहनना है। लेकिन दुर्भाग्य की बात है लोग अब भी इस घातक वायरस के खतरे को नहीं समझ रहे हैं और बाजारों में घूम रहे हैं। उनके बयान पर विपक्षी दल आरजेडी ने तीखी टिप्पणी की है।

Mehma Nawazi Adv
Mehma Nawazi Adv

आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा, ‘उनका कोविड ज्ञान और जागरूकता तब कहां थी जब उन्होंने और बीजेपी के अन्य नेताओं ने पश्चिम बंगाल में चुनाव के लिए प्रचार किया और सभाएं आयोजित कीं। क्या चुनाव अभियान के दौरान कोविड प्रोटोकॉल नहीं टूटा था?’