मुजफ्फरपुर में खुलेगा उत्तर बिहार का पहला किडनी-लिवर रिसर्च सेंटर।

0
1105

 

किडनी-लिवर ट्रांप्लान्ट में मिलेगा EMI की सुविधा।
● 30% गरीबों का लिए मुफ्त होगा इलाज।

मुजफ्फरपुर : स्वास्थ संबंधी समस्याओं के लिए बिहार में अभी सुविधाओं का अभाव है। एवं आर्थिक रूप पर कमजोर लोगों के लिए किडनी और लिवर ट्रांसप्लांट काफी मुश्किल होता हैं। ऐसे में स्मार्ट इंडिया फाउंडेशन के संस्थापक सावन पांडेय ने उत्तर बिहार के लोगों के इलाज हेतु एक शानदार पहल करते हुए किडनी लीवर रिसर्च सेंटर शुरू करने का निर्णय लिया हैं। जहां कोई भी व्यक्ति बड़े ही कम खर्च में इलाज भी करा पाएगा साथ ही साथ ईएमआई के सुविधा के साथ शरीर के अंगो का ट्रांसप्लांट भी करा पाएगा।

MehmaNawazi Adv
MehmaNawazi

बिहार दस्तक से हुई खास बातचीत में समाजसेवी सावन पांडेय जी ने बताया कि रिसर्च सेंटर शुरू करने हेतु कागजी प्रक्रिया चल रही है, मुजफ्फरपुर जिला के मधुबनी पंचायत के मैदापुर चौबे गाँव में रिसर्च सेंटर हेतु जगह भी चयनित किया जा चुका है।

इस रिसर्च सेंटर में पूरे बिहार के लोग अपना इलाज काफी कम लागत एवं भरपूर आधुनिक सुविधाओं के साथ करा पाएंगे। सावन पांडेय ने आगे बताया कि उत्तर बिहार का एकमात्र रिसर्च सेंटर होगा, इस रिसर्च सेंटर का नाम सावन पांडेय जी के माता-पिता के नाम से जुड़ा होगा। श्यामा लाल बाबु किडनी- लिवर रिसर्च सेंटर के मुजफ्फरपुर जिला में खुल जाने के बाद जिला ही नहीं बल्कि पूरे उत्तर बिहार के लोगों को इसका लाभ मिलेगा। सावन पांडेय ने आगे बताया कि इस रिसर्च सेंटर का लाभ लोगों को अगले दो वर्षों में मिलना शुरू हो जायेगा।

इस रिसर्च सेंटर के शुरू होने के बाद मरीजों को इलाज के लिए मजबूरी में बाहर नहीं जाना होगा। सारे सुविधाएं अब यही प्राप्त हो जाएंगी।

Crystal Banquet Adv