सावधान : आपका खरीदा हुआ फोन हो सकता हैं नकली, मुज़फ़्फ़रपुर के मोबाइल दुकानों में हो रहा नकली मोबाइल का कारोबार।

0
1734

मुज़फ़्फ़रपुर : बीते कुछ दिनों पूर्व नगर के मिठनपुरा थाना क्षेत्र के तौफीक अहमद ने पानी टंकी, मिठनपुरा स्तिथ एक दुकान से I-Phone 11 (128GB) फोन लिया जिसके एवज में दुकानदार ने तौफीक से 57,000/- रुपए की वसूली की एवं फोन का IMEI नंबर 355125531304398 के साथ दुकान का एक बिल भी दिया।

 

बिल की तस्वीर देखें बिल में लिखा हैं “Honesty is our Motto” पर दुकानदार ने इस बिल के माध्यम से वसूली पर ग्राहक का जबरदस्त चुना लगा दिया। मात्र 3 महीने के बाद जब फोन में कुछ समस्या आई और फोन खराब हो गया। ग्राहक उस फोन को पटना स्तिथ सर्विस सेंटर में ले गया, पर जब सर्विस सेंटर वाले ने ग्राहक को बताया कि इस फोन की बिलिंग तो भारत का हैं कि बल्कि जापान का हैं तो ग्राहक पहले तो कंफ्यूज हुआ परंतु जब सर्विस सेंटर वाले ने कहाँ की यह फोन चोरी की हैं और दुकान द्वारा दी गयी सारी बिलिंग कागजात नकली हैं तो ग्राहक के होश उड़ गए।

तौफीक बताते हैं कि इस फ़ोन को लेने हेतु उन्होंने बजाज फिनांस से लोन भी कराया जिसके एवज में वो फाइनेंस कंपनी को हर महीने भुकतान भी करते हैं। परंतु हैरान करने वाली बात हैं कि जब फोन की बिलिंग ही नकली हैं और फ़ोन भारत का हैं कि नहीं तो किस आधार पर बजाज फाइनेंस वाले ने कागजात और फोन की पुष्टि की और फाइनेंस किया।

गौरतलब हो कि इस इस ठगी की खबर के बाद इसके तह तक जाकर छानबीन करने पर प्राप्त हुआ कि एक बड़ा सिंडिकेट है और उसमें कई दुकानदारों की मिलीभगत है जो विदेशों के चोरी किए गए फ़ोन को आधे से भी कम दाम में खरीद कर मुजफ्फरपुर जैसे जिले में आकर उसे ओरिजिनल बताते हुए फोन की असली रकम से भी ज्यादा वसूली करते हैं। वहीं फर्जी बिल बनाकर ग्राहकों को बेवकूफ बनाते हुए सरकार को भी टैक्स ना देकर चूना लगाते हैं।

परंतु ग्राहकों के लिए ऐसा फोन लेना खतरे से खाली नहीं है। यदि वह फोन चोरी का है या फिर किसी क्राइम में इस्तेमाल कर उसे बेच दिया गया हो ग्राहक कभी भी परेशानी में फंस सकते हैं।

ग्राहकों के भोलेपन का यह दुकानदार पूरा फायदा उठाते हैं किसी भी फोन की वारंटी 1 साल की होती है अमूमन नई दिखने वाले फोन किसी इत्तेफाक से ही 1 साल से पूर्व खराब होता है। और यदि 1 साल बाद या फोन खराब हो तो लोग सर्विस सेंटर में जाने के बजाय आसानी से अपने आसपास की दुकानों में जाकर इस फोन को बनवा लेते हैं जिससे इन चोर दुकानदारों की कृत लोगों के सामने आ ही नहीं पाती। परंतु इस बार दुकानदारों की किस्मत ही खराब थी ग्राहक द्वारा लिया गया फोन मात्र 2 महीने में ही खराब हो गया जिसके बाद सर्विस सेंटर में जाने पर ग्राहक को इस पूरी वारदात की सच्ची कहानी जानकारी हुई।

गौरतलब हो कि दुकानदार इतनी बड़ी चोरी को अकेले हैं अंजाम नहीं दे रहे बल्कि बजाज फाइनेंस जैसे प्राइवेट फाइनेंस कंपनी भी दुकानदारों की सहयोगी होते हैं और दुकानदारों के साथ मिलकर ग्राहकों का चूना लगाते हैं। बरहाल आप सभी ग्राहकों को सतर्क रहने की अति आवश्कता हैं। वरना आप भी कभी भी किसी बड़े परेशानी में फंस सकते हैं।

इस तरीके की बड़ी चोरी की अभी तक प्रशासनिक जांच नहीं हुई है। गौरतलब हो कि प्रशासन को भी इस मामले में संज्ञान लेते हुए छानबीन करने की आवश्यकता हैं। और नकली फोन विक्रेता एवं चोर दुकानदारों की पहचान कर उनके ऊपर कार्यवाही करने की आवश्यकता है।
Crystal Banquet Adv